ओलंपिक में रचा इतिहासः मिलेगा खेल रत्नः गोल्डन ब्वॉय नीरज समेत 11 खिलाड़ियों को मिलेगा सम्मान

टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरज चोपड़ा का नाम सूची में सबसे पहले है। वहीं रजत पदक जीतने वाले पहलवान रवि दहिया, ओलंपिक पदक विजेता मुक्केबाज लवलीना बोर्गोहेन, फुटबॉलर सुनील छेत्री, वहीं महिला क्रिकेटर मिताली राज, हॉकी खिलाड़ी पीआर श्रीजेश समेत कुल 11 खिलाड़ियों का नाम सम्मानित होने वालों में शामिल है।

नई दिल्ली (New Delhi)। खेल में श्रेष्ठ प्रदर्शन (superior performance) कर देश का नाम रौशन करने वाले खिलाड़ियों (players) के लिए राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों (National Sports Awards) का एलान किया गया है। अभूतपूर्व परिणाम देकर ओलंपिक (Olympics) में इतिहास रचने वाले कुल 11 खिलाड़ियों को देश के सर्वोच्च खेल पुरस्कार (highest sports award) के लिए चुना गया है।

ज्ञात रहे कि हर साल देश के राष्ट्रपति द्वारा 29 अगस्त को दिए जाते हैं। टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरज चोपड़ा का नाम सूची में सबसे पहले है। वहीं रजत पदक जीतने वाले पहलवान रवि दहिया, ओलंपिक पदक विजेता मुक्केबाज लवलीना बोर्गोहेन, फुटबॉलर सुनील छेत्री, वहीं महिला क्रिकेटर मिताली राज, हॉकी खिलाड़ी पीआर श्रीजेश समेत कुल 11 खिलाड़ियों का नाम सम्मानित होने वालों में शामिल है।

पैरालंपिक(Paralympic) में विजेताओं को भी पुरस्कार

इनके अलावा टोक्यो पैरालंपिक में गोल्ड समेत दो पदक जीतकर इतिहास रचने वाली महिला पैरा निशानेबाज अवनी लेखरा और क्रिकेटर शिखर धवन समेत 35 खिलाड़ियों को अर्जुन अवॉर्ड से नवाजा गया है।

इसलिए हुई पुरस्कारों की घोषणा में देरी

राष्ट्रीय खेल पुरस्कार समारोह प्रत्येक वर्ष 29 अगस्त को आयोजित किया जाता था लेकिन इस साल इसे देर से कराया गया है। ऐसा इसलिए क्योंकि केंद्र सरकार खिलाड़ियों के चयन में टोक्यो ओलंपिक और पैरालंपिक में खिलाड़ियों के प्रदर्शन को भी शामिल करना चाहती थी। पैरालिंपिक खेलों का आयोजन इस साल 24 अगस्त से पांच सितंबर तक टोक्यो में हुआ। इस दौरान भारतीय एथलीटों ने रिकॉर्ड प्रदर्शन करते हुए ऐतिहासिक प्रदर्शन किया और ओलंपिक-पैरालंपिक इतिहास का सर्वाधिक पदक जीता।

नीरज ने एथलेटिक्स में पहली बार दिलाया गोल्ड
नीरज चोपड़ा ने ओलंपिक में भारत को पहली बार एथलेटिक्स में गोल्ड दिलाया, जबकि अवनि लेखरा एक पैरालंपिक में दो पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनीं।

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न (Major Dhyan Chand Khel Ratna)
नीरज चोपड़ा- एथलेटिक्स, रवि दहिया- कुश्ती, पीआर श्रीजेश- हॉकी, लवलीना बोरगोहेन- मुक्केबाजी, सुनील छेत्री- फुटबॉल, मिताली राज- क्रिकेट, प्रमोद भगत- बैडमिंटन, सुमित अंतिल- एथलेटिक्स, अवनि लेखारा- निशानेबाज, कृष्णा नगर- बैडमिंटन, मनीष नरवाल- निशानेबाज।

अर्जुन अवॉर्ड (Arjuna Award)
शिखर धवन- क्रिकेट, अरपिंदर सिंह- एथलेटिक्स, सिमरनजीत कौर- मुक्केबाजी, भवानी देवी- तलवारबाजी, मोनिका- हॉकी, वंदना कटारिया- हॉकी, अभिषेक वर्मा- निशानेबाज, संदीप नरवाल- कबड्डी, अंकिता रैना- टेनिस, दीपक पुनिया- कुश्ती, भाविना पटेल- टेबल टेनिस, योगेश कथुनिया- डिस्कस थ्रो, निषाद कुमार- ऊंची कूद, प्रवीण कुमार- ऊंची कूद, शरद कुमार- ऊंची कूद, सुहास एलवाई- पैरा बैडमिंटन, सिंहराज अधाना – निशानेबाज, हरविंदर सिंह- तीरंदाजी
(TNS)