दिल्ली से लौटे स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव, रायपुर और बिलासपुर से स्वास्थ्य विभाग की टीम बुलाई

बच्चों की मौत पर संवेदनाएं जताईं और मेडिकल स्टाफ से मौत के कारणों पर चर्चा की

अंबिकापुर। राजमाता श्रीमती देवेन्द्र कुमारी सिंहदेव मेडिकल कॉलेज में शनिवार रात को हुई चार नवजातों की मौत की खबर मिलने के बाद स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव दिल्ली से लौट आए। दिल्ली से आकर स्वास्थ्य मंत्री शाम करीब साढ़े पांच बजे अंबिकापुर अस्पताल पहुंचे। यहां उन्होंने चिकित्सकों की मौत के कारणों पर चर्चा की। स्वास्थ्य मंत्री ने मासूमों की मौत पर संवेदना व्यक्त की। स्वास्थ्य मंत्री ने रायपुर और बिलासपुर से भी स्वास्थ्य विभाग के विशेषज्ञों की एक टीम को अंबिकापुर बुलाया है।

मेडिकल कॉलेज में शनिवार रात एक साथ चार नवजातों की मौत होने के बाद स्वास्थ्य मंत्री दिल्ली से वापस आ गए हैं। पहले उन्हें सोमवार को वापस आना था। लेकिन बच्चों की मौत के कारण वे अपने आगे के कार्यक्रमों को स्थगित करके वापस आ गए। दिल्ली से लौटकर वे सीध्ो अंबिकापुर अस्पताल पहुंचे। यहां उन्होंने डॉक्टरों से घटना की जानकारी ली। इसके पहले नवजातों के परिजनों ने अस्पताल के बाहर सड़क पर जाम लगा दिया था। परिजनों ने आरोप लगाया था कि अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही और अव्यवस्थाओं के चलते बच्चों की मौत हुई है। परिजन स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को मौके पर बुलाने के लिए अड़े थे। सिविल सर्जन डॉ. अनिल प्रसाद और शिशु रोष विशेषज्ञ डॉ. जेके रेलवानी ने किसी तरह परिजनों को समझाकर जाम खत्म कराया था।
(TNS)