अंतिम चेतावनी, ..नहीं तो जिला स्वास्थ्य समिति की संपत्ति की होगी कुर्की

जानकारी के अनुसार, जिला स्वास्थ्य समिति ने अपने 225 कर्मचारियों का अगस्त 2008 से जनवरी 2016 तक भविष्य निधि अंशदान नियमानुसार भविष्य निधि कार्यालय में जमा नहीं किया था।

कोरबा (korba)। कर्मचारियों के भविष्यनिधि (provident fund office) की राशि को संस्थान लंबे समय से जमा नहीं कर रहा है। इससे चिंतित कर्मचारियों ने कई बार संस्थान प्रमुख के पास बात रखी थी। मामले में कोई सुनवाई नहीं होने पर इसकी शिकायत भविष्य निधि संस्थान से की गई, तो जिला स्वास्थ्य समिति (health committee) के हाथ-पांव फूल रहे हैं। भविष्य निधि कार्यालय (provident fund office) ने मामले की सुनवाई के बाद जिला स्वास्थ्य समिति को अंतिम चेतावनी (warning) दी है।

एक करोड़ 4 लाख रुपए बकाया
मामले में भविष्य निधि पर एक करोड़ 4 लाख रुपए बकाया है। लंबे समय से इस बकाया रकम की अदायगी नहीं होने पर अब भविष्य निधि ने जांच कार्रवाई शुरू की। उसके बाद भुगतान के लिए 15 दिन का समय दिया गया है। इस दौरान भुगतान नहीं होने पर कुर्की की कार्रवाई की जाएगी।

225 कर्मचारियों का मामला
जानकारी के अनुसार, जिला स्वास्थ्य समिति ने अपने 225 कर्मचारियों का अगस्त 2008 से जनवरी 2016 तक भविष्य निधि अंशदान नियमानुसार भविष्य निधि कार्यालय में जमा नहीं किया था। इस पर संज्ञान में लेते हुए भविष्य निधि कार्यालय ने उक्त अवधि के लिए जांच कार्रवाई प्रारंभ की थी। इस पर संस्थान के विरुद्ध 10469511 रुपए की बकाया देय राशि का निर्धारण किया है।

भुगतान के लिए 15 दिन का समय
संस्थान को निर्धारित देय राशि के भुगतान के लिए 15 दिन का समय दिया गया है। इस समय तक संस्थान राशि जमा नहीं करता तो ऐसी दशा में कार्यालय द्वारा भविष्य निधि अधिनियम के तहत वसूली कार्रवाई शुरू करने की चेतावनी दी गई है।

(TNS)