सीडीएस जनरल के निधन पर कट्टरपंथियों के रवैये से आहत फिल्म डायरेक्टर अली अकबर इस्लाम छोड़ बनेंगे हिंदू

बता दें कि बीते दिनों अली अकबर ने बिपिन रावत की वीरगति का लाइव वीडियो बनाया था, जिस पर कुछ कट्टरपंथी लोगों ने हंसने वाला इमोजी लगाया था। इससे अली आहत हैं। उन्होंने बताया इस दौरान इन लोगों ने सीडीएस रावत का मजाक उड़ाने की कोशिश की थी।

 

मुंबई। कभी-कभी किसी को कोई बात इतनी चुभ जाती है। किसी के क्रियाकलाप या विचार इतना दुखी कर देता है कि जिससे अपने जीवन की शुरूआत से जुड़ा होता है उससे भी दूर होते चला जाता है। मलयाली फिल्मों के निर्देशक अली अकबर के साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ है। उन्होंने एलान किया है कि वह जल्द ही इस्लाम को छोड़कर हिंदू धर्म अपना लेंगे।

आपको बता दें कि सीडीएस जनरल बिपिन रावत समेत 13 जवानों की वीरगति ने पूरे देश को गम में डाल दिया है। एक तरफ देशभर में सभी लोग उन्हें अपने तरीके से सम्मान देने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन दूसरी ओर कुछ कट्टर इस्लामी लोग देश के असली हीरो को निशाना बना रहे हैं, जिससे अब केरल के मलयाली फिल्मों के निर्देशक अली अकबर काफी निराश हो गए हैं।

पूरा देश दुखी और ये अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे
देश की सुरक्षा में सर्वोच्च योगदान देने वाले सीडीएस जनरल बिपिन के साथ हुई दुर्घटना से देश को बड़ा नुकसान हुआ है। उसके बाद भी कट्टर इस्लामी लोगों की हरकत से उन्हें बड़ा दुख हुआ है। ऐसे में अब निर्माता ने मुस्लिम धर्म छोड़ने का एलान किया है। उन्होंने बताया है कि वह जल्द ही हिंदू धर्म को अपनी पत्नी के साथ अपना लेंगे। निर्देशक ने फेसबुक लाइव में आकर कहा कि वे इस्लाम का परित्याग कर रहे हैं।

बावजूद कट्टरपंथियों ने हंसने वाला इमोजी लगाया
बता दें कि बीते दिनों अली अकबर ने बिपिन रावत की वीरगति का लाइव वीडियो बनाया था, जिस पर कुछ कट्टरपंथी लोगों ने हंसने वाला इमोजी लगाया था। इससे अली आहत हैं। उन्होंने बताया इस दौरान इन लोगों ने सीडीएस रावत का मजाक उड़ाने की कोशिश की थी। लोगों के इसी रवैये से अली अकबर की भावनाएं आहत हुई हैं।

इस बात को कभी स्वीकारा नहीं जा सकता
कट्टरपंथी की बार-बार ऐसी हरकतों से परेशान अली ने फेसबुक लाइव में आकर इस बारे में बात की। बिपिन रावत को श्रद्धांजलि देते हुए अली अकबर ने कहा, ‘इस बात को कभी स्वीकार नहीं किया जा सकता है और इसलिए मैं अपना धर्म छोड़ रहा हूं। मेरे और मेरे परिवार का कोई धर्म नहीं है।

फिर भी धर्मगुरुओं और नेताओं ने इसका विरोध नहीं किया
निर्देशक ने इस बार पर और नाराज हुए कि ‘इस्लाम के सबसे ऊंचे धर्मगुरुओं और नेताओं ने भी देशद्रोहियों के इस तरह के कार्यों का विरोध नहीं किया है, जिन्होंने एक बहादुर सैन्य अधिकारी का अपमान किया है और वह इसी चीज को स्वीकार नहीं कर सकते हैं। उनका अब धर्म से विश्वास उठ गया है।’

जन्म से मिले एक कपड़े को फेंक रहा हूं
फिल्मों के निर्देशक ने आगे कहा कि आज मैं जन्म से मिले एक कपड़े को फेंक रहा हूं। आज से मैं मुसलमान नहीं हूं। मैं सिर्फ भारत का नागरिक हूं। मेरा ये फैसला उन लोगों को जवाब है, जिन्होंने भारत के खिलाफ इमोजी पोस्ट किए थे।’ अली अकबर ने अपने इस फेसबुक लाइफ में मुस्लिम यूजर्स को जमकर फटकार भी लगाई, जो बिपिन रावत के लिए गलत भाषा का इस्तेमाल कर रहे थे। वहीं अब कुछ लोग अली अकबर की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

फेसबुक ने उनके अकाउंट सस्पेंड कर दिया
बता दें कि अली अकबर बिपिन रावत की मौत के बाद अपने फेसबुक अकाउंट से लाइव आए थे, लेकिन फेसबुक की तरफ से उनके अकाउंट को सस्पेंड कर दिया। इस दौरान फेसबुक की तरफ से उनके पोस्ट को नस्लीय बताया गया था। हालांकि, निर्माता का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसी वजह से अली अकबर ने अपना नया अकाउंट बनाया और सीडीएस की मौत पर मुस्कुराने वालों को दंडित करने की बात कही है।

(TNS)