चुनावी सरगर्मीः मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने सभा में कहा कांग्रेसियों से बड़ा झूठा कोई और नहीं हो सकता

अगले महीने मध्य प्रदेश में तीन विधानसभा व एक लोकसभा सीटों के लिए उपचुनाव होने हैं, जिसे देखते हुए कांग्रेस व बीजेपी दोनों पार्टियों ने अपनी पूरी ताक़त लगा दी है।

भोपाल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में चुनावी सरगर्मी (Election stirring) बढ़ती दिख रही है। इसी के तहत एक सभा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh) ने कांग्रेस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए पार्टी के नेताओं पर जमकर निशाना साधा। चौहान ने यहां तक कह दिया कि कांग्रेसियों से बड़ा झूठा कोई और नहीं हो सकता है।

सभा में मुख्यमंत्री चौहान ने आगे कहा मैं कमलनाथ जैसा नेता नहीं जो सिर्फ भाषण देने के लिए जनता के बीच जाते हैं। मैं तो आपका दुख, दर्द पीकर आपकी जिदंगी बेहतर कैसे बने इसके लिए मुख्यमंत्री बना हूं। जो वचन दिया है वह पूरा करेंगे।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने छैगांव धाकनगांव, विधानसभा बरवाह में आयोजित जनसभा में पार्टी प्रत्याशी के समर्थन में जनसभा करते हुए उक्त बातें कही है। जनसभा में आगे कह जनता को पानी चाहिए, विकास चाहिए और गरीब कल्याण की योजनाएं चाहिए>

गौरतब है की उपचुनाव की घोषणा होने के बाद से ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को लेकर आक्रामक रुख अपनाया हुआ है। इससे पहले एक दिन पूर्व हुई जनसभा को में भी उन्होंने यहां तक कहा कि कांग्रेसिओ से बड़ा झूठा कोई और हो ही नहीं सकता।

जनसभा में मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि कमलनाथ जी ने किसानों से कर्जा माफी का झूठा वादा किया, तो युवाओं को बेरोजगारी भत्ता के नाम पर छला। विवाह योजना का कमलनाथ का पैसा नहीं आया। कांग्रेसियों से बड़ा झूठा कोई और नहीं हो सकता है।

15 साल बाद कांग्रेस सरकार को मिला बेरोज़गारी, अत्याचार और भ्रष्टाचारः अध्यक्ष

मुख्यमंत्री चौहान के आरोप के बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भी उन पर पलटवार किए। अध्यक्ष अपनी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि 15 साल बाद कांग्रेस की सरकार बनी। ऐसा प्रदेश शिवराज जी ने मुझे सौंपा जो किसानों की आत्महत्या में नंबर 1, बेरोज़गारी, महिलाओं पर अत्याचार, भ्रष्टाचार में नंबर 1 था। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री ने 22 हज़ार घोषणाएं कर दी थी।

तीन विधानसभा व एक लोकसभा सीटों पर उपचुनाव

ज्ञात रहे कि अगले महीने मध्य प्रदेश में तीन विधानसभा (Assembly) व एक लोकसभा सीटों (Lok Sabha seats) के लिए उपचुनाव होने हैं, जिसे देखते हुए कांग्रेस व बीजेपी दोनों पार्टियों ने अपनी पूरी ताक़त लगा दी है। दोनों ही पार्टियां चारों सीटों पर अपनी जीत का दावा कर रही हैं।
(TNS)