चंदखुरी में विकृत प्रतिमा बदलने प्रदर्शन, बजरंग दल ने किया पर्यटन विभाग का घेराव

रायपुर (raipur)। माता कौशल्या मंदिर (Mata Kaushalya Temple) चंदखुरी (chandkhuri) में स्थित प्रभु राम जी की विकृत (deformed) मूर्ति (statue) को लोकर हिंदू धार्मिक संगठनों ने आपत्ति दर्ज की है। प्रतिमा को बदलने की मांग (demand) को लेकर संगठनों ने मंगलवार को पर्यटन विभाग (tourism department) का घेराव कर दिया। संगठनों ने विभाग को चेतावनी दी है कि इस पर शीघ्र पहल नहीं की गई तो प्रेदशभर में आंदोलन किया जाएगा।

अंतर्राष्ट्रीय (International) हिन्दू परिषद (Hindu Parishad) और राष्ट्रीय बजरंग दल (National Bajrang Dal) ने प्रदर्शन (demonstration) के दौरान पर्यटन विभाग से सवाल किया कि इस ओर ध्यान क्यों नहीं दिया गया। बजरंग दल ने विभाग को चेताया है अगर 15 दिनों के अंदर भगवान राम की मूर्ति नहीं बदली गई, तो हम आंदोलन आगे बढ़ाएंगे। प्रदर्शन के दौरान पुलिस और बजरंग दल के बीच धक्का-मुक्की भी हुई। इस दौरान पुलिस ने दल के पदाधिकारियों को समझाने की कोशिस की गई, नहीं माने तो प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने गिरफ़्तार ( police arrested) कर लिया।

पर्यटन विभाग के संचालक को सौंपा ज्ञापन
रायपुर जिले के अंतर्राष्ट्रीय हिन्दू परिषद और राष्ट्रीय बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने जिला अध्यक्ष भीम साहू व ग्रामीण जिला अध्यक्ष भुनेश्वर सेन के नेतृत्व में चंदखुरी स्थित माता कौशल्या मंदिर प्रांगण में स्थापित भगवान राम जी की विकृत मूर्ति को बदले की मांग को लेकर प्रदर्शन किया है। कार्यकर्ताओं ने पर्यटन विभाग के संचालक को ज्ञापन सौंपकर चेतावनी दी है कि 15 दिनों के अंदर भगवान की विकृत प्रतिमा नहीं बदली गई, तो मामले को लेकर प्रदेशभर में आंदोलन तेज किया जाएगा

प्रतिमा खरीदते समय नहीं रखा आस्था का ध्यान
आंदोलन में शामिल हिन्दू परिषद छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) प्रांत के महामंत्री दीपक दुबे ने कहा सरकार की कोई भी एजेंसी अपने विभाग के लिए फर्नीचर, स्टेशनरी या अन्य चीजें गुणवत्ता देखकर खरीदती है। इधर करोड़ों हिन्दुओं के आराध्य भगवान श्री राम की मूर्ति स्वीकृत करने से पहले हिन्दुओं की आस्था (Faith) का ध्यान नहीं रखा गया।

नहीं तो अधिकारियों के चेहरे पर पोतेंगे कालिख

सरकार ने जल्दबाजी में भगवान श्री राम जी की विकृत मूर्ति स्थापित कर दी है। दल की मांग है कि हिन्दुओं के दिलों में विराजमान भगवान राम की छवि के अनुरूप प्रतिमा स्थापित की जाए। यदि निर्धारित समय में विभाग अंदर की मूर्ति नहीं बदलता है तो दल जिम्मेदार अधिकारियों के मुंह में कालिख पोतेंगे। वहीं पूरा प्रदेश में आंदोलन करेगा।

बता दें कि राष्ट्रीय बजरंग दल ने मूर्ति को लेकर कुछ दिनों पहले आपत्ति दर्ज कराई थी। दल ने पर्यटन विभाग के संचालक से कहा था कि विकृत मूर्ति बदली जानी चाहिए।
(TNS)