सीएम भूपेश का किसानों को दिवाली का तोहफा, न्याय योजना की तीसरी किश्त जारी

राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर किसानों के खाते में जारी किए जाएंगे राजीव गांधी किसान न्याय योजना के 1500 करोड़ स्र्पये

रायपुर। राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर सरकार प्रदेश के किसानों को बंपर दिवाली तोहफा देने जा रही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज इसकी जानकारी दी। मुख्यमंत्री के अनुसार राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तीसरी किश्त के रूप में किसानों के खाते में 1500 करोड़ स्र्पये ट्रांसफर किए जाएंगे। इस राशि से प्रदेश के 21 लाख किसानों की दिवाली धमाकेदार हो जाएगी। यह राशि राज्य के स्थापना दिवस यानी एक नवंबर को किसानों के खाते में पहुंचेगी। इस राशि को अगर मिला लें तो सरकार अब तक किसानों के खाते में 4548 करोड़ स्र्पये पहुंचा चुकी है।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना की शुस्र्आत वर्ष 2019 में की गई थी। पहले साल गन्ना और धान पैदा करने वाले 19 लाख किसानों को 5702 करोड़ स्र्पये दिए गए थे। इसके बाद 2020 में चार किश्तों में किसानों को इस योजना के तहत भुगतान किया जा रहा है। पहली किश्त में करीब 1526 करोड़, दूसरी किश्त में लगभग 1522 करोड़ स्र्पये पहले ही दिए जा चुके हैं। अब तीसरी किश्त में धान पैदा करने वाले किसानों को 1500 करोड़ स्र्पये दिए जा रहे हैं। इस योजना से मिल रहे लाभ के चलते ग्रामीणों का खेती-किसाने में स्र्झान बढ़ा है। अब ऐसे लोग भी वापस खेती की ओर स्र्ख कर रहे हैं, जो इसे घाटे का सौदा बताकर मुंह मोड़ रहे थे।

ग्रामीणों की खेती में स्र्चि को देखते हुए सरकार अब इस योजना का लगातार विस्तार कर रही है। कभी खरीफ फसलों तक सीमित यह योजना अब सभी फसलों और उद्यानिकी फसलों तक विस्तारित हो चुकी है। धान के अलावा अन्य फसल पैदा करने वाले किसानों को प्रति एकड़ 10 हजार स्र्पये एवं पौधरोपण करने वाले किसानों को तीन साल तक प्रति एकड़ के हिसाब से 10 हजार स्र्पये देने की व्यवस्था की गई है।