30 अक्टूबर तक पूरा हो जाएगा कैनाल रोड, महकेगी चंपा की खुशबू

नंदिनी अहिवारा की ओर जाने वालों को मिलेगी ट्रैफिक की समस्या से मुक्ति

तीरंदाज, भिलाई। भिलाई नगर निगम क्षेत्र में बनाए जा रहे कैनाल रोड का काम इस महीने के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है। करीब 28 करोड़ की लागत से बनने वाला यह रोड दुर्गा मंदिर सड़क से नंदनी रोड को जोड़ता है। सड़क के बीच डिवाइडर के नीचे से दो बड़े पाइप बिछाए गए हैं। यह पाइप कैनाल के पानी को आगे की ओर ले जाने के लिए हैं। रोड के दोनों ओर चंपा के पौधे लगाए गए हैं। यानी जब इन पौधों में फूल आएंगे तो सड़क पर चलना खुशबू भरा होगा।

कैनाल रोड पर चल रहे काम को देखने के लिए रविवार को निगम आयुक्त प्रकाश सर्वे पहुंचे। बताया गया कि कैनाल रोड के किनारे सुंदर दिखने वाले पौधे लगाए जा चुके हैं। डिवाइडर पर चंपा के पौधे लगाए गए हैं। इसके अलावा ट्रीमेलिया एवं जल्द बढ़ने वाले कोनोकार्पस जैसे पौधे भी रोपे जा रहे हैं। शिवाजी नगर जोन के अधिकारियों के अनुसार 30 अक्टूबर तक इस सड़क का निर्माण पूरा हो जाएगा। सड़क पर प्रकाश व्यवस्था के लिए बिजली के पोल लगाए जा चुके हंै। निरीक्षण के दौरान जोन आयुक्त अमिताभ शर्मा, कार्यपालन अभियंता संजय बागड़े एवं उप अभियंता चंद्रकांत साहू मौजूद रहे।

सात वार्डों से गुजरता है केनाल रोड
कैनाल रोड खुर्सीपार क्षेत्र के सात वार्डों से गुजरता है। वार्ड नंबर 31 दुर्गा मंदिर से शुरू होकर यह वार्ड नंबर 32, 33, 34, 35, 36 एवं 37 से होकर नंदिनी रोड से मिल जाता है। इस सड़क के बन जाने से नेशनल हाईवे के दो मुख्य चौक से नंदिनी, अहिवारा की ओर जाने वालों के लिए बेहतर कनेक्टिविटी मिल सकेगी। हाईवे से खुर्सीपार गेट के चौक से भी कैनाल रोड की कनेक्टिविटी है। इस सड़क के जरएि नेशनल हाईवे से सीधे कैनाल रोड होते हुए नंदनी रोड, पावर हाउस मार्केट, बैकुंठ धाम क्षेत्र, हाउसिंग बोर्ड क्षेत्र, घासीदास नगर क्षेत्र, नंदिनी अहिवारा, एससीसी औद्योगिक प्लांट, जामुल रोड की ओर जाया जा सकेगा।

अंडरग्राउंड पाइप लाइन से तालाबों को भरने की योजना
शिवाजी नगर जोन के कार्यपालन अभियंता संजय बागड़े ने बताया कि डिवाइडर के ठीक नीचे दो बड़े पाइप बिछाए गएं हैं, जो आगे नंदनी रोड को क्रॉस करते हुए शीतला कांप्लेक्स की ओर जाते हैं। शीतला कांप्लेक्स जोन नंबर-3 मदर टेरेसा नगर क्षेत्र के अंतर्गत आता है, इस क्षेत्र में बड़ा नाला है। इसके माध्यम से कैंप क्षेत्र के तालाबों को भरा जा सकता है। इसकी कार्य योजना बना ली गई है।
(TNS)