Breaking: लाखों की महंगी शराब के साथ सीआरपीएफ का जवान साथी के साथ गिरफ्तार

टीम ने दोनों आरोपी को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से महंगी ब्राण्ड (ब्लैक लेबल/रेड लेबल कंपनी) का कुल 8 पेटी अंग्रेजी शराब कीमती लगभग 4 लाख रुपए और शराब तस्करी में उपयोग इंडिगो कार (सीजी-04एचबी7781) जुमला कीमती लगभग 6 लाख रुपए जप्त किया

रायपुर (raipur)। छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) में नशे के खिलाफ लगातार कार्रवाई जारी है। राज्य शासन ने इसके लिए सख्त रुख अख्तियार करने के निर्देश दिए हैं। उसके बाद से लगातार नाकेबंदी (blockade) के साथ माफियाओं (mafia) पर पुलिस नजर रख रही है। आज फिर एक मामला सामने आया है। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) से लाई जा रही अवैध रूप से महंगी ब्रांड की अंग्रेजी शराब जब्त की गई है। गिरफ्तार (arrested) दो तस्कर छत्तीसगढ़ में शराब खपाने के फेर में थे।

मुखबिर (informer) की सूचना पर साइबर सेल (cyber cell) और थाना सिविल लाईन (Thana Civil Line) की संयुक्त टीम ने यह कार्रवाई की है। शराब की तस्करी (liquor smuggling) करने वाला आरोपी सीआरपीएफ का जवान है, जिसे पहले से शराब की तस्करी के आरोप में बर्खास्त किया गया है।

मुखबिर ने दी महत्वपूर्ण सूचना
बता दें कि राज्य शासन के कड़े निर्देश के बाद से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने सभी पुलिसअधिकारियों और थाना प्रभारियों को कड़ा निर्देश दिया है। अन्य राज्यों से आऩे वाली शराब की तस्करी रोकने के साथ ही अवैध शराब की खरीदी-बिक्री करने वाले लोगों के संबंध में पतासाजी कर कार्रवाई करने कहा है। रायपुर पुलिस के सभी पुलिस राजपत्रित अधिकारियों और थाना प्रभारियों द्वारा इस संबंध में सूचना संकलन कर मुखबिर लगाने के साथ ही अन्य माध्यमों से भी जानकारी एकत्रित किए जा रहे है।

सिविल लाईन क्षेत्र में दबोचे गए माफिया
मंगलवार को सायबर सेल की टीम को सूचना प्राप्त हुई कि थाना सिविल लाईन क्षेत्र में दो व्यक्तियों द्वारा कार में शराब की तस्करी की जा रहीं है। जिस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर तारकेश्वर पटेल और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध अभिषेक माहेश्वरी द्वारा प्रभारी सायबर सेल गिरीश तिवारी व थाना प्रभारी सिविल लाईन सत्य प्रकाश तिवारी को आरोपियों को शराब के साथ रंगे हाथ पकड़ने निर्देशित किया गया। जिस पर सायबर सेल एवं थाना सिविल लाईन की संयुक्त टीम द्वारा कार व व्यक्तियों की पतासाजी करना प्रारंभ करते हुए कार और व्यक्तियों को चिन्हांकित कर थाना सिविल लाईन क्षेत्र के अशोका हाॅस्पिटल के पास पकड़ा गया। इसमें गणेश जैन और शेख मुईन शामिल था।

बोरियों में भरी थी शराब की पेटियां
कार की तलाशी लेने परअंदर अलग-अलग बोरियों में शराब की पेटी रखा होना पाया गया. जिस पर टीम द्वारा शराब परिवहन करने के संबध में व्यक्तियों से वैध दस्तावेज की मांग की गई, लेकिन इन व्यक्तियों ने शराब परिवहन करने के संबंध में किसी प्रकार का कोई भी वैध दस्तावेज या अन्य कागजात प्रस्तुत नहीं किया।

लगभग 4 लाख कीमत की थी शराब
टीम ने दोनों आरोपी को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से महंगी ब्राण्ड (ब्लैक लेबल/रेड लेबल कंपनी) का कुल 8 पेटी अंग्रेजी शराब कीमती लगभग 4 लाख रुपए और शराब तस्करी में उपयोग इंडिगो कार (सीजी-04एचबी7781) जुमला कीमती लगभग 6 लाख रुपए जप्त किया। आरोपियों के खिलाफ थाना सिविल लाईन में अपराध धारा 34(2) आबकारी एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर दोनों आरोपियों के विरूद्ध अग्रिम कार्रवाई की गई।

बता दें कि आरोपी गणेश जैन सीआरपीएफ का बर्खास्त आरक्षक है। आरोपी गणेश जैन को अगस्त 2021 में शराब तस्करी करने के मामले में बिलासपुर में आबकारी विभाग बिलासपुर की टीम द्वारा गिरफ्तार किया गया था। जिसमें आरोपी जेल निरूद्ध रह चुका है। इसी प्रकरण में गिरफ्तारी बाद आरोपी गणेश जैन को सीआरपीएफ से बर्खास्त किया गया था। गणेश जैन पिता रामानंद जैन (35 साल), निवासी रिद्धी-सिद्धी गार्डन के पास महावीर नगर, थाना न्यू राजेन्द्र नगर रायपुर और शेख मुईन पिता शेख रहीम (32 साल) निवासी संतोषी नगर मस्जिद के पास थाना टिकरापारा रायपुर शामिल हैं।

कार्रवाई में निरीक्षक गिरीश तिवारी प्रभारी सायबर सेल, निरीक्षक सत्य प्रकाश तिवारी थाना प्रभारी सिविल लाईन, उपनिरीक्षक विनोद कश्यप थाना सिविल लाईन, सायबर सेल से प्र.आर. सरफराज चिश्ती, आर. राजिक खान, दिलीप जांगडे, प्रमोद बेहरा एवं सबरूद्दीन खान थाना न्यू राजेन्द्र नगर की महत्वपूर्ण भूमिका रहीं।

(TNS)