निकाय चुनावः नियम के पालन में अनदेखी, आयोग का 36 अभ्यर्थियों को नोटिस

व्यय लेखा प्रभारी ने बताया कि अभ्यर्थियों को व्यय लेखा जांच के लिये पासबुक, निक्षेप राशि की रसीद, निर्वाचन नामावली एवं मार्गदर्शिका क्रय करने की प्राप्त रसीद एवं प्रचार-प्रसार से संबंधित रसीद के साथ निर्वाचन व्यय का दिन प्रतिदिन का लेखा रजिस्टर के साथ उपस्थित होकर लेखा जांच कराना होगा।

भिलाई। नगरीय निकाय चुनाव में चुनाव आयोग के नियमों का पालन नहीं करने वाले प्रत्याशियों को नोटिस जारी किया गया है। नहीं तो उन पर कार्रवाई की जाएगी।

प्रदेश में नगर पालिक निगम स्थानीय निर्वाचन 2021 के लिए पार्षद पद के अभ्यर्थी को निर्वाचन व्यय लेखा प्रस्तुत करना होता है। इसमें चुनाव के निर्धारित समय तक व्यय लेखा प्रस्तुत करना होता है। इस आदेश की अनदेखी करने वालों को नेटिस जारी किया गया है।

तीन दिनों में 318 अभ्यर्थियों को नोटिस
इसके लिए 8 दिसंबर को 107 अभ्यर्थी, 9 को को 113 एवं 10 दिसंबर 2021 को 98 अभ्यर्थियों को लेखा परीक्षण के लिय उपस्थित होने अवगत कराया गया है। इसके बावजूद कुछ अभ्यर्थी लेखा जांच के लिये नहीं पहुंचे। ऐसे अभ्यर्थियों को रिटर्निंग ऑफिसर पदमिनी भोई साहू ने नोटिस जारी किया है।

नोटिस के बाद रजिस्टर लेकर पहुंचे
36 अभ्यर्थी को नोटिस जारी किया गया था, जिसके बाद इसमें से 18 ने व्यय लेखा जांच करा लिया है। शेष 18 कमलेश देवांगन, कमलजीत सिंह, अरूण सिंह सिसोदिया, सेवन कुमार, नेहा साहू, राकेश कुमार धनकर, ललित बारले, महेन्द्र साहू दाउ, सुषमा उपाध्याय, डी. रानी, प्रभा प्रकाश लहरे, स्वेता पटेल, गिरजा बाई बंछोर, ममीता ममता चौधरी, अंजू साहू, मोंगरा वर्मा, नंदकिशोर चौधरी, के.जगदीश ने लेखा जांच नहीं कराया है।

सुबह 10.30 बजे से जांच
राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों के अनुसार प्रथम/द्वितीय निर्वाचन लेखा की जांच के लिये तिथि नियत की गई है और इसके अनुरूप नगर पालिक निगम भिलाई के कक्ष क्रमांक 28 में अभ्यर्थियों का व्यय लेखा परीक्षण किया जा रहा है। सुबह 10.30 बजे से 5.30 बजे तक कार्यालयीन समय में व्यय लेखा की जांच हो रही है।

जांच कराना हर हाल में जरूरी
व्यय लेखा प्रभारी ने बताया कि अभ्यर्थियों को व्यय लेखा जांच के लिये पासबुक, निक्षेप राशि की रसीद, निर्वाचन नामावली एवं मार्गदर्शिका क्रय करने की प्राप्त रसीद एवं प्रचार-प्रसार से संबंधित रसीद के साथ निर्वाचन व्यय का दिन प्रतिदिन का लेखा रजिस्टर के साथ उपस्थित होकर लेखा जांच कराना होगा। व्यय लेखा की जांच कराना प्रत्येक अभ्यर्थी को अनिवार्य है।

द्वितीय शेड्यूल 14, 15 एवं 16 दिसंबर को
प्रथम शेड्यूल के तहत 8, 9 एवं 10 दिसंबर को व्यय लेखा परीक्षण की तिथि नियत की गई है तथा द्वितीय शेड्यूल के तहत दिनांक 14, 15 एवं 16 को व्यय लेखा परीक्षण होगा। यह दोनो ही चरण व्यय लेखा जांच के लिए अनिवार्य है जिसमें अभ्यर्थियों को दिये गये निर्धारित दिनांक को उपस्थित होना है। नोटिस जारी करने के बाद भी जो अभ्यर्थी उपस्थित होकर व्यय लेखा जांच नहीं कराएंगे उनके विरूद्ध भारतीय दंड संहित की धारा 171- झ के अधीन दाण्डिक कार्यवाही होगी।

(TNS)