Bipin Rawat Funeral: सीडीएस बिपिन रावत की अंतिम यात्रा, बरार स्क्वेयर पर दी जाएगी 17 तोपों की सलामी

सीडीएस बिपिन रावत व उनकी पत्नी मधुविका के पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन करने एनएसए अजीत डोभाल, उत्तराखंड सीएम पुष्कर सिंह धामी, कांग्रेस नेता हरीश सिंह रावत, दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बाजपेई समेत कई लोग उनके घर पहुंचे। सभी ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।

 

नई दिल्ली। सीडीएस बिपिन रावत का आज करीब चार बजे अंतिम संस्कार किया जाएगा। उनका व उनकी पत्नी का पार्थिव शरीर उनके घर पर लाया गया। जहां से शरीर को उनके आवास से बरार स्क्वायर श्मशान घाट ले जाया जा रहा है।

अंतिम यात्रा पर जनरल रावत का पार्थिव शरीर
सीडीेएस जनरल बिपिन रावत की अंतिम यात्रा उनके घर से रवाना हो गई। उनका पार्थिव शरीर दिल्ली के बरार स्कवायर ले जाया जाएगा, जहां 5 बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

चीफ जस्टिस ने दी जनरल को श्रद्धांजलि
भारत के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमण ने CDS जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत को श्रद्धांजलि दी।

पत्नी व बेटी ने दी भावुक विदाई
ब्रिगेडिर लिद्दड़ को उनकी पत्नी व बेटी ने अंतिम विदाई दी। उनके पार्थिक शरीर के पास पहुंचते ही दोनों भावुक हो उठीं और खुद को संभाल नहीं पाईं।

एनएसए डोभाल, उत्तराखंड सीएम समेत कई ने दी श्रद्धांजलि
सीडीएस बिपिन रावत व उनकी पत्नी मधुविका के पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन करने एनएसए अजीत डोभाल, उत्तराखंड सीएम पुष्कर सिंह धामी, कांग्रेस नेता हरीश सिंह रावत, दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बाजपेई समेत कई लोग उनके घर पहुंचे। सभी ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।

कृषि मंत्री बोले इस क्षति की भरपाई मुश्किल
CDS बिपिन रावत के निधन पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शोक जताया है। उन्होंने अंतिम दर्शन के बाद कहा, “देश ने एक बहादुर सैनानी और एक योग्य सेनापति को खोया है। ये ऐसी क्षति है जिसकी भरपाई करना मुश्किल है। मैं दिवंगत आत्माओं के चरणों में अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।

हेलीकॉप्टर क्रैश की साइट पर पहुंचा जांच दल
भारतीय वायुसेना के वरिष्ठ अधिकारी और पुलिस टीम कुन्नूर के पास हुई हेलिकॉप्टर दुर्घटना स्थल पर पहुंची, जहां CDS जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी समेत 13 लोगों की मौत हुई थी।

वायुसेना की अपील- दुर्घटना पर बेबुनियाद अटकलों से बचें
भारतीय वायुसेना ने शुक्रवार को बयान जारी किया है। इसमें कहा गया- “8 दिसंबर को हुई दुखद हेलीकॉप्टर दुर्घटना के कारणों की जांच के लिए एक ट्राई सर्विस कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी का गठन किया। जांच तेज़ी से पूरी की जाएगी और तथ्य सामने आएंगे। तब तक मृतकों की गरिमा का सम्मान करने के लिए बेबुनियाद अटकलों से बचा जा सकता है।”

(TNS)