स्वास्थ्य मंत्री के बाद अब विधायक बृहस्पत सिंह ने शिक्षा मंत्री के खिलाफ खोला मोर्चा

शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह पर लगाया ट्रांसफर उद्योग चलाने और सरकार को बदनाम करने का आरोप

रायपुर। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव और उनके भतीजे पर हमले का आरोप लगाने वाले विधायक बृहस्पत सिंह ने बुधवार को एक और धमाका कर दिया। विधायक जी ने अपनी ही पार्टी के एक और मंत्री के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अब बृहस्पत सिंह ने स्कूली शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम पर ट्रांसफर उद्योग चलाने, गंभीर अपराधों के आरोपी अफसरों को स्र्पये लेकर बचाने का आरोप लगाया है। बृहस्पत यहीं नहीं स्र्के उन्होंने शिक्षा मंत्री पर सीएम को भी चैलेंज करने का आरोप लगा दिया।

दरअसल बुधवार की शाम कुछ कांग्रेस विधायक स्कूली शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम से मिलने उनके घर गए थे। इनमें विधायक बृहस्पत सिंह के साथ चंद्रदेव राय, इन्द्रशाह मंडावी, यूडी मिंज, विनय जयसवाल शामिल थे। यह तो पता नहीं चला कि विधायक क्यों गए थे। लेकिन माना जा रहा है कि सभी विधायक शिक्षा मंत्री से बेहद खफा हैं। बताया जा रहा है कि विधायक बृहस्पत सिंह मंत्री के घर में ही उनसे भिड़ गए। बृहस्पत ने शिक्षा मंत्री पर ट्रांसफर उद्योग चलाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि ट्रांसफर के नाम पर ओएसडी के माध्यम से वसूली की जा रही है। जबकि विधायकों की अनुशंसा को दरकिनार किया जा रहा है।

देर रात बातचीत में बृहस्पत सिंह ने कहा कि उनके आरोप केवल आरोप नहीं हैं, उनके पास पूरी जानकारी है। स्कूली शिक्षा मंत्री द्वारा भ्रष्ट अफसरों से स्र्पये लेकर उनका बचाव किया जा रहा है। जिनके खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं, उनके खिलाफ अगर कार्रवाई के लिए लिखा जाता है तो मंत्री उन्हें बचाते हैं। शिक्षा मंत्री अब मुख्यमंत्री को चैलेंज कर रहे हैं। सीएम ने जिन अफसरों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कहा, उनसे रिश्वत लेकर सरकार को ही बदनाम करने की साजिश की जा रही है। बृहस्पत सिंह ने कहा कि उन्हें कई विधायकों ने बताया है कि मंत्री ने ब्लॉक लेवल और जिला स्तर के अधिकारियों का रिश्वत का रेट फिक्स कर रखा है।
(TNS)