चार साल के मासूम को डसने के बाद तड़प तड़प के मरा कोबरा, बच्चा स्वस्थ

तीरंदाज, डेस्क। ‘जाको राखे साइयां.. मार सके न कोय’ इस कहावत को बिहार के गोपालगंज की घटना ने सच साबित कर दिया। जिसने भी इस घटना के बारे में सुना वो हैरत में पड़ गया। बीते बुधवार गोपालगंज के बरौली थाना क्षेत्र के माधोपुर गांव में एक चार साल के बच्चे को जहरीले कोबरा ने डंस लिया। लेकिन बच्चे को कुछ नहीं हुआ जबकि थोड़े ही देर बाद सांप मर गया। सारा घटनाक्रम 30 से 35 सेकेंड के अंदर हो गया। जिसे भी घटना की जानकारी हुई वो बच्चे और मृत सांप को देखने के लिए पहुंच गया।

तड़प-तड़प कर तोड़ा दम
जानकारी के अनुसार बरौली थाना क्षेत्र के माधोपुर गांव के रहने वाले रोहित कुमार का चार साल का बेटा अनुज अपने मामा के घर आया हुआ था। बुधवार की शाम घर के सामने वह अन्य बच्चों के साथ खेल रहा था। उसी दौरान खेत की ओर से एक कोबारा सांप तेजी से आया और खेल रहे अनुज के पैर में डस में लिया। सांप के काटने के बाद मौजूद बच्चे डर के मारे भाग गए। वहां मौजूद लोगों की नजर जैसे ही सांप पर पड़ी तो सभी लाठी-डंडा लेकर सांप को मारने के लिए दौड़े पड़े। मगर जब तक वो सांप के पास पहुंचते, सांप ने पहले ही तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया था। जबकि अनुज फिर से खेलने लगा था।

अनुज और कोबरा दोनों को लेगए अस्पताल
इस घटना के बाद परिजन बच्चे को आनन फानन में सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड पहुंचे।अनुज की जांच के बाद उसे डॉक्टरों ने पूरी तरह से स्वस्थ बताया। परिजन अपने साथ मरे हुए कोबरा को डब्बे में डालकर सदर अस्पताल में लेकर गए थे। ताकि सांप को सही तरीके से पहचान कर डॉक्टर बच्चे का इलाज कर सकें। पांच फुट लंबे सांप को देखकर हर कोई हैरान था। डॉक्टर ने बताया कि अनुज को किसी तरह का कोई खतरा नहीं वह पूरी तरह से स्वस्थ है। लेकिन मासूम बच्चे को डंसने के बाद ज़हरीला कोबरा खुद कैसे मर गया, यह लोगो में जिज्ञासा और रहस्य का विषय बन गया है।