50 से ज्यादा शो के साथ आदिवासी नृत्‍य महोत्‍सव में दिखेगी संस्कृति की झलक, आज होंगे ये कार्यक्रम

रायपुर। राजधानी में राष्‍ट्रीय आदिवासी नृत्‍य महोत्‍सव (National Tribal Dance Festival) का आगाज हो चुका है। इस दौरान यहां छत्तीसगढ़ी संस्कृति ( Chhattisgarhi Culture) की झलक भी देखने को मिल रहा है। प्रदेश के कर्मा नृत्य (Karma Dance), गेड़ी नृत्य (Gedi Dance), गौर सिंग नर्तक दल खास आकर्षण का केंद्र रहा। बता दें कि राष्‍ट्रीय आदिवासी नृत्‍य महोत्‍सव में सात देशों और 27 राज्यों, 6 केंद्र शासित प्रदेश के लोक नृत्य कलाकार 50 से ज्यादा शो करेंगे।

पंजाब के मुख्यमंत्री एस.चरणजीत सिंह चन्नी आज रात्रि 8 बजे राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव एवं राज्योत्सव 2021 अंतर्गत आयोजित होने वाले कार्यक्रम में मुख्य अतिथि होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डॉ.चरणदास महंत करेंगे।

इस महोत्सव में छत्तीसगढ़ के अलावा नाइजीरिया, फिलिस्तीन, श्रीलंका, उज्बेकिस्तान, युगांडा, स्वाजीलैंड, एसविलिनी देशों समेत होजागिरी त्रिपुरा के दल का नृत्य, गोंड जनजाति का कर्मा नृत्य मध्यप्रदेश, कड़सा नृत्य झारखंड, गोजरी नृत्य जम्मू-काश्मीर, गुरयाबल्लू आंध्रप्रदेश, कारबी-तिवा असम, डिम्सा आंध्रप्रदेश, धप-ओड़िसा, कोम्युकोवा-तेलंगाना, दंडार-मध्यप्रदेश, बोण्डा-ओड़िसा, मेवासी नृत्य-गुजरात ,करमा नृत्य-छत्तीसगढ़, झींझी हन्ना-उत्तराखंड, गुसाड़ी-डिम्सा-तेलंगाना, उरांव-झारखंड, सिद्धि गोमा नृत्य-गुजरात की प्रस्तुति हो रही है।

आज के कार्यक्रम
-सुबह 9 बजे से दोप 7.30 बजे तक पारंपरिक विधाओं पर नृत्य प्रतियोगिता।
-रात 8 बजे से नाइजीरिया, फिलिस्तीन, श्रीलंका और सिध्दि गोमा-राजस्थान की प्रस्तुति होगी।

(TNS)