विवाह के लिए 13 दिसंबर तक 6 मुहूर्त, फिर लग जाएगा मलमास…ये हैं शुभ मुहूर्त

रायपुर। प्रदेश में कोरोना (Corona) कम होते ही लगातार शुभ काम हो रहे हैं। इस सीजन में अभी विवाह (Marriage) के 6 मुहूर्त हैं, लेकिन अंतिम मुहूर्त 13 दिसंबर को होगा। इसके बाद मलमास (Malmas) लगने के चलते मांगलिक कार्य ( Manglik work) करीब एक माह के लिए प्रतिबंधित हो जाएंगे। इसके बाद सीधे नए साल में 22 जनवरी को पहला मुहूर्त मिलेगा। कोरोना के चलते इस साल भी ज्यादातर शादियां टल गई थीं। ऐसे में साल के आखिरी 6 मुहूर्तों में शादियों की खूब धूम रहने वाली है।

पंडित अशोक तिवारी (Pandit Ashok Tiwari) के अनुसार साल के आखिरी मुहूर्त मार्ग शीर्ष मास में पड़ रहे हैं। धार्मिक दृष्टिकोण से इस मास को अत्यंत शुभ माना गया है। भगवान श्रीकृष्ण ने भी इसे अपना सबसे प्रिय महीना बताया है। इस साल की शादियों का आखिरी सीजन अगले 22 दिन ही और है। 14 दिसंबर को धनु संक्रांति के चलते मलमास लग जाएगा, जो मकर संक्रांति यानी अगले साल 14 जनवरी तक रहेगा। फिर पहला मुहूर्त 22 जनवरी को पड़ रहा है। वहीं, मार्ग शीर्ष महीना 19 दिसंबर तक चलेगा।

मार्ग शीर्ष मास में 16 विशेष नक्षत्रों समेत कई शुभ संयोग
मार्ग शीर्ष हिंदू वर्ष का 9वां महीना है। प्रत्येक चंद्रमास का नाम उसके नक्षत्र के आधार पर रखा जाता है। मार्गशीर्ष माह में मृगशिरा नक्षत्र होता है इसलिए इसे मार्गशीर्ष कहा जाता है। आम बोलचाल की भाषा में इसे अगहन मास के नाम से भी जाना जाता है। इस माह में भगवान कृष्ण की उपासना करने का विशेष महत्व माना गया है।

ये हैं विवाह मुहूर्त

  • नवंबर- 28 और 30 तारीख।
  • दिसंबर- 1, 7, 11, 13 तारीख।
  • जनवरी- 22 और 23 तारीख।
  • फरवरी- 5, 6, 10, 18 तारीख।
  • इसके बाद नए 2 अप्रैल 2022 से शुरू होने वाले नव संवत्सर 2079 में विवाह मुहूर्त मिलेंगे।
    (TNS)