वैट को लेकर सियासी दंगलः मुख्यमंत्री भूपेश ने केंद्र पर साधा निशाना

वैट कम करने के मामले में सीएम बघेल ने कहा पेट्रोल के पांच रुपए दाम कम करके केंद्र सरकार जनता को लॉलीपॉप दिका रही है। पहले 30 रुपए दाम बढ़ा दिए गए। उसके बाद 5 रुपए दाम कम किए गए। कांग्रेस लगातार बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर आंदोलन करती रही है।

रायपुर (Raipur)। केंद्र सरकार (central government) की पहल से पेट्रोल (Petrol) और डीजल (Diesel) में बढ़े दाम से आम लोगों को बड़ी राहत मिली है। केंद्र सरकार पेट्रोल-डीजल के दामों पर से एक्साइज ड्यूटी (excise duty) घटाई गई है। भाजपा शासित राज्यों (states) ने पेट्रोल-डीजल पर वैट कम कर दिया है, वहीं दूसरी ओर कांग्रेस शासित किसी भी राज्य ने वैट नहीं घटाया है। इस बात को लेकर सियासी दंगल (political riots) शुरू हो गया है। आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है।

मामले में मुख्यमंत्री (Chief Minister) भूपेश बघेल ने वैट घटाने को लेकर बयान जारी किया है। उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। मुख्यमंत्री बघेल से पेट्रोल-डीजल पर वैट कम करने के मामले पर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा बीजेपी शासित राज्यों में वैट घटाने की बात कही जा रही है, लेकिन इसको लेकर कोई नोटिफिकेशन जारी नहीं किया गया है।

हमने नहीं बढ़ाया तीन साल में एक पैसा
सीएम बघेल ने कहा केंद्र सरकार एक्साइज ड्यूटी घटाकर वाहवाही बटोरने की कोशिश कर रही है, जबकि यूपीए सरकार के समय जितनी सेंट्रल एक्साइज़ ड्यूटी थी, अब भी उसी स्तर पर ले आए हम उसका स्वागत करेंगे। छत्तीसगढ़ में रमन सिंह की सरकार ने अपने कार्यकाल में टैक्स के दाम तय किए गए थे, उससे एक पैसा भी हमने पिछले 3 सालों में नहीं बढ़ाया।

केैंद्र दिखा रही लॉलीपॉप
वैट कम करने के मामले में सीएम बघेल ने कहा पेट्रोल के पांच रुपए दाम कम करके केंद्र सरकार जनता को लॉलीपॉप दिका रही है। पहले 30 रुपए दाम बढ़ा दिए गए। उसके बाद 5 रुपए दाम कम किए गए। कांग्रेस लगातार बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर आंदोलन करती रही है। हमारी मांग आज भी वही है। इससे जनता पर बोझ बढ़ रहा है।

अगर ऐसा हो तो पेट्रोल 50 से 60 रुपए लीटर में मिलेगा

सीएम बघेल ने कहा कि केंद्र सरकार अभी भी मुनाफा कमा रही है। टैक्स वहीं के वहीं है। एनडीए सरकार से हम कहते रहे कि यूपीए सरकार में जितना टैक्स और एक्साइज ड्यूटी लगती थी, उसी स्तर पर ले आए। अगर ऐसा होगा जाएगा तो पेट्रोल 50 से 60 रुपए लीटर में मिलेंगा।

इसलिए आरोप-प्रत्यारोप का दौर

दरअसल केंद्र सरकार ने दीपावली के एक दिन पहले पेट्रोल-डीजल के दामों पर एक्साइज ड्यूटी कम कर दी थी, जिसके बाद बीजेपी शासित राज्यों ने भी केंद्र की तर्ज पर कच्चे तेल के दामों में वैट कम कर दिया, लेकिन कांग्रेस शासित राज्यों ने वैट कम नहीं किया। जिससे कांग्रेस बीजेपी में आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है।
(TNS)