दिल्ली में लग सकता है 2 दिन का लॉकडाउन, इस बार वजह करोना नहीं, प्रदूषण है

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट का सख्त रुख

दिल्ली में प्रदूषण बढ़ने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने सख्त हिदायत दी है.

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में एक बार फिर से लॉकडाउन लगाया जा सकता है। हालांकि इस बार लॉकडाउन लगने के पीछे वजह कोरोन वायरस का संक्रमण नहीं, बल्कि राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण बढ़ना है। दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण पर शनिवार को सुप्रीम कोर्ट ने सख्त रुख अपनाया। आज प्रदूषण पर सुनवाई के दौरान सीजेआई ने कहा कि सरकार को दो दिनों के लिए लॉकडाउन पर विचार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि पराली जलाने के अलावा दिल्ली में इंडस्ट्रीज, पटाखें और डस्ट प्रदूषण के कारण हैं। दो दिनों का लॉकडाउन भी उपाय हो सकता है।

कोर्ट ने केंद्र सरकार को निर्देश दिया है कि वायु प्रदूषण की वजह से बने आपातकालीन हालात से निपटने के लिए क्या फैसले लिए गए हैं, इसके बारे में आगामी सोमवार को जानकारी दें। अगली सुनवाई उसी दिन होगी। सुनवाई के दौरान सीजेआई ने कहा कि राजधानी में प्रदूषण की हालत बदतर है, लोग घरों में मास्क पहनने को मजबूर हो रहे हैं। आपने क्या कदम उठाए हैं।

पराली को बताया वजह

कोर्ट के सवाल पर सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि पराली जलाने के कारण दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण बढ़ा है। इसे रोकने के लिए राज्यों को कुछ कड़े कदम उठाने होंगे। किसानों पर पेनाल्टी लगानी होगी। इस पर सीजेआई ने कहा कि आप यह कहना चाहते हैं कि प्रदूषण के लिए किसान जिम्मेदार हैं लेकिन इसे कंट्रोल करने के लिए कारगर मैकेनिज्म कहां गया? शॉर्ट टर्म प्लान क्या है? दो दिनों के लिए लॉकडाउन भी उपाय हो सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि आप आज ही मीटिंग करें और तत्काल इमर्जेंसी स्टेप उठाएं। इस पर सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि आज मीटिंग होगी। सीजेआई ने कहा कि न्यूज रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रदूषण की बड़ी वजह पराली जलाना है तो पंजाब और हरियाणा सरकार से यह क्यों नहीं कहा जा रहा कि इस पर 2-3 दिन में पूरी तरह लगाम लगे।