केपीएस और श्रीशंकराचार्य के संचालकों पर दर्ज होगा दहेज प्रताड़ना का केस, बहू ने पति पर अप्राकृतिक संबंध बनाने का भी लगाया आरोप

तीरंदाज, रायपुर। रायपुर, भिलाई में कृष्णा पब्लिक स्कूल व श्रीशंकराचार्य कॉलेज संचालित करने वाले त्रिपाठी परिवार पर उनकी बहू ने दहेज प्रताड़ना का आरोप लगाया है। यही नहीं परिवार की बहू ने पति पर बलपूर्वक अप्राकृतिक संबंध बनाने का भी आरोप जड़ा है। बहू के आरोप पर कोर्ट ने पुलिस को केस दर्ज करके कार्रवाई करने के आदेश जारी किए हैं। बता दें कि केपीएस और श्रीशंकराचार्य ग्रुप छत्तीसगढ़ में बड़ा नाम हैं।

त्रिपाठी परिवार की बहू के अधिवक्ता ठाकुर आनंद मोहन सिंह के अनुसार दहेज की मांग को लेकर महिला को उसके पति, जेठ और सास-ससुर लंबे समय से प्रताड़ित कर रहे थे। इस संबंध में महिला ने पुलिस थाने में शिकायत की थी। लेकिन आरोपियों की ऊंची पहुंच के कारण केस दर्ज नहीं किया गया। इसके बाद कोर्ट में परिवाद दायर किया गया। कोर्ट में जान से मारने की धमकी, अवैध वसूली, दहेज के लिए प्रताड़ित करने के पर्याप्त प्रमाण प्रस्तुत किए गए। इसके बाद मजिस्ट्रेट आरती ठाकुर ने महिला की शिकायत पर पति, जेठ और सास-ससुर पर एफआईआर दर्ज करने के आदेश जारी किए हैं। बता दें कि त्रिपाठी परिवार के अभिषेक त्रिपाठी केपीएस (कृष्णा पब्लिक स्कूल) के डायरेक्टर हैं। जबकि उनके बड़े भाई निशांत त्रिपाठी श्रीशंकराचार्य कॉलेज के डायरेक्टर हैं। इन दोनों के अलावा आनंद त्रिपाठी और उनकी पत्नी स्नेहलता त्रिपाठी के खिलाफ भी केस दर्ज करने का आदेश हुआ है।

बहू के अधिवक्ता के अनुसार आरोपी न केवल महिला से दहेज के लिए गाली-गलौज और प्रताड़ित कर रहे थे, बल्कि पति द्वारा जबरन अप्राकृतिक संबंध बनाकर मानसिक उत्पीड़न किया जा रहा था। आरोप है कि शराब के नशे में महिला से मारपीट की जाती थी। यहां तक कि महिला की जबान खींचने की भी कोशिश की गई। इससे जबान पर जख्म भी बन गए। मामले की गंभीरता को देखते हुए कोर्ट द्वारा केस दर्ज करने का आदेश जारी किया गया है।