कुर्सी की रार में बगावत के आसार

सीएम भूपेश बोले- 'छत्तीसगढ़, छत्तीसगढ़ है पंजाब नहीं"

तीरंदाज, रायपुर। कुर्सी की लड़ाई में छत्तीसगढ़ रस्साकसी का अखाड़ा तो पहले ही बन चुका है और अब यह लड़ाई बगावत की हद तक जाती दिख रही है। सीएम भूपेश बघेल के तेवर अब सख्त दिख रहे हैं। राजधानी से बेमेतरा जाने से पहले सीएम ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान ऐसे संकेत भी दे दिए हैं। बातचीत में सीएम ने कहा कि छत्तीसगढ़, छत्तीसगढ़ है, पंजाब नहीं। छत्तीसगढ़ और पंजाब में केवल एक समानता है कि दोनों ही राज्यों का नाम अंकों के आधार पर है।

दरअसल शनिवार को सीएम भूपेश बघेल का बेमेतरा में कार्यक्रम था। बेमेतरा जाने से पहले उन्होंने पत्रकारों से बातचीत की। इस पत्रकारों ने पूछा कि क्या छत्तीसगढ़ में भी पंजाब की तरह बदलाव संभव है। इस सवाल का जवाब सीएम भूपेश ने बड़े ही आक्रामक तरीके से दिया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़, छत्तीसगढ़ है, पंजाब नहीं। छत्तीसगढ़ और पंजाब में केवल एक समानता है। दोनों की राज्यों का नामकरण संख्या के आधार पर है। पंजाब पांच नदियों के संगम के कारण पंजाब है और छत्तीसगढ़ 36 गढ़ों के कारण। सिवाए इसके दोनों राज्यों में कोई समानता नहीं है। सीएम ने बदलाव की किसी भी संभावना से ही इंकार कर दिया।

पत्रकारों ने जब ये कहा कि पार्टी ने उन्हें उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए पार्टी का मुख्य पर्यवेक्षक बनाया है। इस पर वे बोले कि पार्टी ने जो जिम्मेदारी दी है, उसके लिए सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का आभार है। इस पर एक पत्रकार ने पूछा कि कहीं ऐसा तो नहीं हो जाएगा कि जिम्मेदारी पकड़ाकर ढाई-ढाई साल वाला फॉर्मूला लागू कर दिया जाए। इस पर सीएम ने कहा कि आप कहां आ गए। ऐसी कोई बात ही नहीं है।
(TNS)